व्यापार ऋण से जुड़ी खबरें, बिजनेस करते हैं तो जरुर पढ़ें ताजा ख़बरें

व्यापार ऋण से जुड़ी खबरें

भारत में व्यापार ऋण एक महत्वपूर्ण मुद्दा है। छोटे और मध्यम उद्यम (MSMEs) के लिए व्यापार ऋण प्राप्त करना अक्सर मुश्किल होता है। हालाँकि, सरकार और बैंकों ने हाल के वर्षों में इस दिशा में कई कदम उठाए हैं। इस क्षेत्र में सरकारी योजनाओं, बैंकिंग सेक्टर्स के विभिन्न ऑफर्स व RBI रेगुलेशंस का महत्वपूर्ण योगदान व प्रभाव होता है, इस पोस्ट में हम बिजनेस लोन (Vyapar Rin) से जुड़ी लेटेस्ट न्यूज़ व स्कीम्स की जानकारी जानेंगे –

व्यापार ऋण से जुड़ी खबरें –

हाल ही में, कई बैंकों ने व्यापार ऋण की ब्याज दरों में वृद्धि की है। इसकी वजह है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो दरों में वृद्धि की है। रेपो दरों में वृद्धि से बैंकों की लागत बढ़ जाती है, जिससे वे व्यापार ऋण की ब्याज दरें बढ़ा देते हैं।

  • ब्याज दरें बैंकों की आधार दर (रेपो रेट) पर आधारित होती हैं।
  • वर्तमान में, आरबीआई की आधार दर 6.5% है।

2024 में विभिन्न बैंकों में व्यापार ऋण की ब्याज दरें –

ब्याज दरें, बिजनेस व प्रॉफिट जैसे विभिन्न कारकों पर भी निर्भर कर सकती हैं इसलिए ब्याज दरें फिक्स्ड या एक जैसी नहीं हो सकती –

व्यापार ऋण की ब्याज दरें विभिन्न कारकों पर निर्भर करती हैं, जैसे:

    • ऋण राशि
    • ऋण की अवधि
    • ऋणदाता बैंक
    • क्रेडिट स्कोर
बैंक ब्याज दर (प्रति वर्ष)
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) 16.25% से 21% तक
भारतीय स्टेट बैंक (UBI) 16.5% से 21.5% तक
पंजाब नेशनल बैंक (PNB) 16.5% से 21.5% तक
बैंक ऑफ इंडिया (BOI) 16.75% से 22% तक
एचडीएफसी बैंक 17.25% से 22.25% तक
आईसीआईसीआई बैंक 17.5% से 22.5% तक

भारत सरकार द्वारा व्यापर ऋण को आसान बनाने वाली योजनायें –

मुद्रा योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana) एक ऐसी योजना है जो छोटे और मध्यम उद्यमों को आसानी से व्यापार ऋण उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गई थी। इस योजना के तहत, 10 लाख रुपये तक का ऋण बिना किसी गारंटी के दिया जाता है। मुद्रा योजना के तहत, 2022-23 तक 31.6 लाख करोड़ रुपये से अधिक का ऋण दिया जा चुका है।

आरबीआई की पहल

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने भी व्यापार ऋण को आसान बनाने के लिए कई पहल की हैं। RBI ने बैंकों को निर्देश दिया है कि वे छोटे और मध्यम उद्यमों को ऋण देने के लिए अपने मानदंडों को सख्त न करें। RBI ने MSME को ऋण देने के लिए एक विशेष पहल भी शुरू की है। इस पहल के तहत, बैंकों को MSME को ऋण देने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

व्यापार ऋण के लिए आवेदन कैसे होता है –

बिजनेस लोन के लिए आवेदन करने के लिए, आपको बैंक से संपर्क करना होगा। बैंक आपसे आपके व्यवसाय के बारे में जानकारी मांगेंगे, जैसे कि व्यवसाय की स्थापना का समय, व्यवसाय का प्रकार, व्यवसाय का आकार, व्यवसाय का राजस्व, व्यवसाय की लागत, आदि। बैंक आपके क्रेडिट स्कोर की भी जांच करेंगे।

व्यापार ऋण के लिए आवश्यक दस्तावेज

आवेदन करने के लिए, आपको निम्नलिखित दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे –

  • व्यवसाय का रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र
  • व्यवसाय की आयकर रिटर्न
  •  बैंक स्टेटमेंट
  • मालिक/प्रबंधक का पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बिजेनस प्रोजेक्ट रिपोर्ट, आदि

व्यापार ऋण लेते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें –

  • ऋण की ब्याज दरों और अन्य शर्तों को ध्यान से समझें।
  • लोन राशि केवल उसी उद्देश्य के लिए खर्च करें जिसके लिए आपने ऋण लिया है।
  • ऋण का भुगतान समय पर करें।

व्यापार ऋण एक महत्वपूर्ण वित्तीय निर्णय होता है जो छोटे और मध्यम उद्यमों को अपने व्यवसाय को बढ़ाने में मदद कर सकता है। हालाँकि, व्यापार ऋण लेने से पहले सभी पहलुओं पर विचार करना महत्वपूर्ण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *