जानिए कौन ले सकता है नाबार्ड बैंक से लोन

भारत सरकार द्वारा नाबार्ड बैंक की स्थापना सन 1982 में की गयी थी। इसका पूरा नाम राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक है। इस संस्था का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण भारत में स्वरोजगार, पशुपालन व कृषि क्षेत्र में लोगों की आर्थिक, तकनीकी मदद करना है। इस लेख में हम जानेंगे कि नाबार्ड से लोन लेने की पात्रता, आवेदन प्रक्रिया, महत्वपूर्ण नियम आदि जानेंगे –

नाबार्ड से लोन कौन ले सकता है

ग्रामीण क्षेत्र में पशुपालन या कृषि व्यवसाय से जुड़े किसान, MSME उद्योग करने वाले उद्यमी व सामाजिक विकास में योगदान देने वाले लोग, नाबार्ड बैंक से लोन ले सकते हैं। इसमें मिलने वाले लोन के प्रकार व व्यवसाय निम्न प्रकार के हो सकते हैं –

  • फार्मिंग लोन  – इसमें किसानों को फसल उत्पादन, पशुपालन, मछली पालन, मधुमक्खी पालन या कृषि-यंत्र खरीदने के लिए लोन मिल सकता है।
  • ग्रामीण उद्योग ऋण: लोकल लेवल पर स्वरोजगार करने या बिजनेस का विस्तार करने हेतु लोन ले सकते हैं।
  • ग्रुप लोन – किसी प्रकार के बिजनेस में समूह बनाकर लोन ले सकते हैं।
  • ग्रामीण बुनियादी ढांचा ऋण: भारत सरकार की विभिन्न परियोजनाओं जैसे सिंचाई, पेयजल, सड़कें, और पुलों जैसे ग्रामीण बुनियादी ढांचे के विकास के लिए ऋण मिल सकता है।
  • इसके आलावा शिक्षा, स्वास्थ्य, और स्वच्छता जैसी सामाजिक सुविधाओं के विकास के लिए ऋण ले सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – आधार कार्ड पर 5 मिनट में लोन कैसे लें

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक से लोन लेने की पात्रता –

नाबार्ड से लोन लेने के लिए भारत में रहने वाले, 18 वर्ष से अधिक उम्र के उद्यमी, किसान, स्वयं सहायता समूह या NGO चलने वाले लोग लोन ले सकते हैं।

इसके आलावा नाबार्ड के द्वारा सरकारी योजनाओं के अंतर्गत वाणिज्यिक बैंक, सहकारी बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (आरआरबी) को भी ऋण देने का प्रावधान है।

नाबार्ड ऋण से लोन की सामान्य आवेदन प्रक्रिया –

  • नाबार्ड बैंक से जुड़ी नजदीकी ऑफिस या ब्रांच में जाकर लोन के बारे में जानकारी ले सकते हैं या ऑफिसियल वेबसाइट (www.nabard.org) पर निर्देशों को पढ़ सकते हैं
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म ऑनलाइन या ऑफलाइन जिस तरह आवश्यक हो भरवा कर, जरुरी दस्तावेजों के साथ ब्रांच में जमा करें।
  • एप्लीकेशन जमा करने के बाद आपके आवेदन का मूल्यांकन नाबार्ड द्वारा किया जाएगा।
  • यदि ऋण स्वीकृत हो जाता है, तो नाबार्ड ऋण राशि को संबंधित संस्था को जारी करेगा।

भारत सरकार की क्रेडिट लिंक्ड योजनाओं की नाबार्ड ब्याज दरें –

आपको बता दें कि नाबार्ड बैंक द्वारा, विभिन्न स्कीमों के अंतर्गत, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, सहकारी समितियों, सरकार द्वारा पंजीकृत समूहों आदि को विभिन्न ब्याज दरों पर ऋण दिया जाता है। जिसके बाद वहां से आम ग्राहकों को लोन मिल सकता है, जिनकी ब्याज दरें ग्राहक के प्रोफाइल या सिबिल के अनुसार हो सकती हैं।

आप ब्याज दरों की पूरी जानकारी इस लिंक पर जाकर देख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – गरीब आदमी को कितना लोन मिल सकता है 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *