मछली पालन के लिए लोन कहां से मिलेगा?

मछली पालन एक ऐसा व्यवसाय है जिसमे ग्रामीण और शहरी दोनों इलाकों में रोजगार सृजन की अपार संभावनाएं है। भारत ही नही बल्कि विदेश में लोग मछली और इससे बने व्यंजन खाना बहुत पसंद करते है। मतस्य उत्पादन में भारत पुरे विश्व में दुसरे नंबर है। वर्तमान में सरकार द्वारा कई योजनायें चलाई जा रही है जिससे एक आम आदमी मतस्य पालन के लिए लोन लेकर इस व्यवसाय को शुरू कर सकते है। 

किसानों को मछली पालन के लिए लोन –

मछली पालन करने के लिए कई बैंक और वित्तीय संस्थान लोन देती है। यह लोन बैंक के अलावा और भी निजी संस्थान लोन देती है। मछली पालन के लिए बैंक जो लोन देती है उसके अलावा सरकार कई तरह की योजनायें चलाती है जिसके तहत मछली पालन के लिए लोन लेना बहुत ही आसान हो जाता है। ऐसी ही एक योजना का संचालन केंद्र सरकार द्वारा किया जा रहा है। यह है प्रधानमंत्री मतस्य सम्पदा योजना के नाम से जानी जाती है।

Also Read: मुद्रा लोन न चुकाने पर क्या होगा?

मछली पालन के लिए लोन कहां से मिलेगा

जो किसान मछली पालन कर के अपनी आय दुगुनी करना चाहते है और उनके लिए सरकारी योजना के तहत लोन भी ले सकते है। मछली पालन  को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा पीएम मतस्य संपदा योजना चलाई जा रही है। इस योजना के तहत सरकार किसानों को उनकी लागत पर तक़रीबन 75 प्रतिशत तक की सब्सिडी देंगे। 

प्रधानमंत्री मतस्य सम्पदा योजना के तहत जो भी किसान पशुपालक मछली पालन करना चाहते है उनको कुल आय का 25 प्रतिशत अपना खुद का लगाना होता है और बाकी की 75 प्रतिशत राशि सरकार द्वारा दी जाती है। 

प्रधानमंत्री मतस्य सम्पदा योजना 

मतस्य सम्पदा योजना एक सरकारी योजना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश में मतस्य पालन को बढ़ावा देना है। साथ ही इस मछली पालन करने वालो की मछलियों की शुद्धता और गुणवत्ता का भी ध्यान रखा जायेगा। 

Also Read: प्रधानमंत्री लोन योजना 2022

PM मतस्य संपदा योजना के उद्देश्य 

मछली पालन हेतु लोन देने हेतु और आर्थिक सहायता देने हेतु इस योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के कुछ उद्देश्य है प्रकार है-

  • इस योजना का संचालन मुख्य रूप से उन ग्रामीण इलाकों में किया जाएगा जिस इलाकों में मछली पालन का कार्य किया जाता है। 
  • मछली पालन करने वाले किसानों को इस योजना के तहत आर्थिक लाभ और सब्सिडी दी जायेगी ताकि उनको यह बिज़नस करने में आसानी हो। 
  • मछ्ली पालन करने वाले किसानों को उनकी लागत पर खर्च होने वाली रकम पर 75 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जायेगी। 
  • देश में बढती मछली का मांग और घटती पूर्ति के चलते ही इस योजना का संचालन किया जा रहा है ताकि हमारे देश में मछली पालन करने वालों को किसी भी तरह की को दिक्कत नहीं हो और उनको मछली पालन के लिए मदद की जा सके। 

Also Read: बैंक से लोन लेने के लिए क्या करना होगा? 

मत्स्य पालन के लिए लोन कौन ले सकता है?

आपको बतादें कि मछली पालन में किसानों की सहायटा के लिए मतस्य सम्पदा योजना का संचालन किया जा रहा है। इस योजना के तहत कौन लोन ले सकता है उसके बारे में भी जानना जरुरी है ताकि वो इस योजना के तहत लोन ले सके। यह सभी हो सकते है लाभार्थी – 

  • मत्स्य विकास निगम
  • स्वयं सहायता समूह (SHG) / संयुक्त देयता समूह (JLGs) में
  • मछली पालन क्षेत्र
  • मत्स्य सहकारी समितियाँ
  • मछली किसान उत्पादक संगठन / कंपनियाँ (FFPOs / Cs)
  • फिशर
  • मछली किसान
  • मछली श्रमिक और मछली विक्रेता
  • मत्स्य पालन संघ
  • एससी / एसटी / महिला / अलग-अलग विकलांग व्यक्ति
  • उद्यमी और निजी फर्म

मतस्य सम्पदा योजना हेतु दस्तावेज 

  • लोन लेने वाले आवेदक का आधार कार्ड 
  • मछली पालन कार्ड 
  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र 
  • बैंक खाते की जानकारी 
  • मोबाइल नंबर 
  • जाति प्रमाण पत्र इत्यादि। 

Also Read: बंधन बैंक लोन कैसे देती है

मछली पालन के लिए लोन के लिए आवेदन कैसे करें?

इस तरह से कर सकते है आवेदन – 

  • Step 1 – इसके लिए आपको सबसे पहले इस योजना की वेबसाइट पर आना होता है। 
  • Step 2 – इसके बाद इस वेबसाइट पर एक आप्शन Department of fishers under important links का आप्शन मिल जाता है। 
  • Step 3 – इस वेबसाइट पर एक और नया आप्शन PMMSY Scheme के नाम से दिखाई देगा, उस पर क्लिक कर के इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर आ जाते है। 

इस वेबसाइट पर इस योजना में के बारे में पूरी जानकारी मिल जाती है और यही से इस योजना के लिए आवेदन किया जा सकता है। इस योजना की पूरी जानकारी के लिए आप इस बुकलेट को डाउनलोड कर सकते है।

 

Also Read: भारतीय स्टेट बैंक पर्सनल लोन

Leave a Comment