क्या होता है अगर मैं 6 महीने तक ईएमआई का भुगतान नहीं करता तो

क्या होता है अगर मैं 6 महीने तक ईएमआई का भुगतान नहीं करता तो

लोन एक ऐसी वित्तीय सुविधा है जो लोगों को अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए बड़ी राशि का पैसा उधार लेने की अनुमति देती है। लोन के बदले, उधारकर्ता को लोन देने वाली संस्था को मासिक किस्तें (ईएमआई) के रूप में ब्याज सहित पैसा वापस करना होता है।

अगर कोई व्यक्ति किसी कारण से अपनी ईएमआई का भुगतान नहीं करता है, तो उसे लोन डिफॉल्टर माना जाता है। लोन डिफॉल्ट के गंभीर परिणाम हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

क्या होता है अगर मैं 6 महीने तक ईएमआई का भुगतान नहीं करता तो

किसी भी लोन का EMI लगातार 6 महीनों तक नहीं भरने पर आपको निम्नलिखित नुकसान हो सकते हैं –

  • विलंब शुल्क: लोन देने वाली संस्था ईएमआई के भुगतान में देरी करने पर उधारकर्ता से विलंब शुल्क वसूल सकती है। विलंब शुल्क आमतौर पर ईएमआई की मूल राशि का 2% से 5% होता है।
  • सिबिल स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव: लोन की emi न देने वाले डिफॉल्ट उपभोक्ताओं का सिबिल स्कोर खराब हो जाता है। सिबिल स्कोर एक व्यक्ति की वित्तीय जिम्मेदारी का माप है। सिबिल स्कोर खराब होने से भविष्य में किसी अन्य लोन या क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने में परेशानी हो सकती है।
  • लोन की वसूली के लिए कानूनी कार्रवाई: अगर कोई व्यक्ति लगातार ईएमआई का भुगतान नहीं करता है, तो लोन देने वाली संस्था कानूनी कार्रवाई कर सकती है। कानूनी कार्रवाई के तहत, लोन देने वाली संस्था उधारकर्ता की संपत्ति को जब्त कर सकती है और उसे बेचकर लोन की राशि वसूल सकती है।

यह भी देखें – मृत्यु के बाद केसीसी लोन का क्या होता है, जाने नियम

EMI न देने पर क्या क्या एक्शन बैंक द्वारा लिए जा सकते हैं –

अगर कोई व्यक्ति लगातार 6 महीने तक ईएमआई का भुगतान नहीं करता है, तो उसे लोन डिफॉल्टर माना जाएगा। इस स्थिति में, लोन देने वाली संस्था निम्नलिखित कार्रवाई कर सकती है:

  • कर्ज धारक को नोटिस भेजना: लोन देने वाली संस्था कर्ज धारक को एक नोटिस भेज सकती है जिसमें उसे ईएमआई का भुगतान करने के लिए कहा जाता है। नोटिस में उधारकर्ता को यह भी बताया जाता है कि अगर वह ईएमआई का भुगतान नहीं करता है, तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
  • लोन धारक की संपत्ति को जब्त करना: अगर उधारकर्ता ईएमआई का भुगतान नहीं करता है, तो लोन देने वाली संस्था उसकी संपत्ति को जब्त कर सकती है। जब्त की गई संपत्ति को नीलाम करके लोन की राशि वसूल की जाती है।

यह भी देखें – (बढ़ गयी ब्याज) अब पोस्ट ऑफिस में ₹1000 जमा करने पर 5 साल में कितना मिलेगा

6 महीने तक ईएमआई का भुगतान नहीं करने से बचने के लिए क्या करें?

इस स्थिति से बचने के लिए आपको इन बातों को जरुर जानना चाहिए –

  • अपनी वित्तीय स्थिति का आकलन करें: लोन लेने से पहले अपनी वित्तीय स्थिति का आकलन करें और यह सुनिश्चित करें कि आप ईएमआई का भुगतान करने में सक्षम हैं।
  • लोन की अवधि और ब्याज दर पर विचार करें: लोन लेने से पहले लोन की अवधि और ब्याज दर पर विचार करें और यह सुनिश्चित करें कि आप ईएमआई का भुगतान करने में सक्षम हैं।
  • ईएमआई की राशि को स्थिर रखें: यदि संभव हो, तो ईएमआई की राशि को स्थिर रखें। इससे आपको भविष्य में ईएमआई का भुगतान करने में आसानी होगी।
  • अपने बजट में लोन की ईएमआई शामिल करें: अपने बजट में लोन की ईएमआई शामिल करें और यह सुनिश्चित करें कि आप ईएमआई का भुगतान करने के लिए पर्याप्त पैसा बचा रहे हैं।

लोन एक बड़ी जिम्मेदारी है। लोन लेने से पहले अपनी वित्तीय स्थिति का आकलन करें और यह सुनिश्चित करें कि आप ईएमआई का भुगतान करने में सक्षम हैं। अगर आप किसी कारण से ईएमआई का भुगतान करने में असमर्थ हैं, तो तुरंत अपने लोन देने वाली संस्था से संपर्क करें और समाधान के लिए बातचीत करें।

यह भी देखें – मुद्रा लोन न चुकाने पर क्या होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *